शेयर बाजार शेयर बाजार, बचत, बीमा, निवेश और के बारे में जानकारी हिंदी में. साथ ही जानिये कंपनियों के नतीजे कैसे पढ़ें, कैसा हो आपका बीमा एजेंट और क्या होता है यूलिप. About Savings, Insurance, Investment and Share markets in Hindi. Also read about Insurance Agents, How to read companies results and what is ULIP.

शेयरबाजार और बैल

ist2_1809786_bulls_n_bears1.jpg

महाश्क्ति के प्रमेंद्र प्रताप सिंह ने यह सवाल मुझसे दो तीन बार पूछा था। हर बार यही सोचता कि अगले किसी लेख में इस बारे में लिखूंगा। आज फिर जब उन्हों ने यही प्रश्न उठाया तो ज्यादा इंतजार न करवाकर टाईम निकाल उनका जवाब दे रहा हूं। उनका प्रश्न था कि

शेयर बाजार और बैल मे क्‍या सम्‍बन्‍ध ? क्यों शेयर बाजार के समाचारों के साथ बैल को भी चित्रित किया जाता है।


शेयर बाजार की अपनी एक भाषा होती है। जो लोग यह सोचते हैं कि बाजार तेजी के रुख में रहेगा तो लाभ की आशा में वे और शेयर खरीदना चाहते हैं इसीलिये उन्हें तेजड़िये कहते हैं। जो सोचते हैं कि बाजार में कीमतें गिरेंगी वे शेयरों को बेचना चाहते हैं तो उन्हें कहते हैं मदड़िये। इन्ही तेजड़ियों को बाजार में बुल्स यानी बैल कहा जाता है तथा मंदड़ियों को बियर यानी भालू। इसी लिये जब भी बाजार में तेजी आती है तो अगले दिन सेंसेक्स के ग्राफ के साथ बैल को चित्रित किया जाता है और जब बाजार तेजी से गिरते हैं तो भालू का चित्र दिखाया जाता है।
मान्यता है कि यह नाम इस जानवरों के हमला करने के तरीके से पड़ा। जब भी बैल हमला करता है तो अपने शिकार को नीचे से उठा कर उछाल देता है जबकि भालू अपने शिकार को हमेशा पंजों से नीचे की ओर दबाता है।



1 comments:

Anonymous,  6 March 2013 10:47 pm  

hahaha its also good........... badia likhte ho app sir ji,jise kafi jankari milti hai mere jase english na samjne balo ko...

Post a Comment